डायबिटीज में खायें ये फल Fruits for Diabetics

भारत में डायबिटीज(Diabetes) से प्रभावित लोगों की संख्या बढ़ती जा रही है। डायबिटीज के साथ सबसे बुरी चीज इसके साथ जुड़े परहेज हैं जिनकी वजह से लोग बहुत ज्यादा परेशान रहते हैं। इन सभी परहेजों के बीच अधिकतर लोग फलों(Fruits) में क्या खाया जा सकता है और क्या नहीं यह सोच सोच कर परेशान रहते हैं। आज मैं आपको डायबिटीज में कौन से फल खाए जा सकते हैं इसके बारे में बताऊंगा

fruit-basket-1114060_640

ग्लायसेमिक इंडेक्स(Glycemic Index)  के अनुसार किसी भी भोजन को उसमें कार्बोहायड्रेट(Carbohydrate) की मात्रा के अनुसार 0 से 100 के बीच रेटिंग(Rating) दी जाती है। ग्लायसेमिक इंडेक्स के अनुसार फलों को तीन भागों में बाँट सकते हैं

लो ग्लायसेमिक इंडेक्स फल(Low Glycemic Fruits)

ग्लायसेमिक इंडेक्स के अनुसार 50 रेटिंग से नीचे के सभी फल इसी वर्ग में आते हैं और इनको खाते समय बहुत अधिक सोचने की जरूरत नहीं पड़ती। इन सभी फलों को खाने से शरीर में बहुत तेजी से ग्लूकोस(Glucose) की मात्रा नहीं बढ़ती है लेकिन फिर भी इन फलों को भी खाते समय यह ध्यान रखने की जरूरत है कि एक दिन में फलों के केवल 2 कप(Cup) ही खाने चाहिए इससे अधिक खाने से इनके लाभों की जगह हानि की संभावना रहती है। ऐसे फलों को उनके ग्लायसेमिक इंडेक्स(Glycemic Index) के आधार पर इस तरह कम से अधिक में बाँट सकते हैं

cherries-1503974_640

चेरी(Cherry) 22 जी आई(G.I.)

अमरूद(Guava) 24 जी आई (G.I.)

चकोतरा(Grapefruit) 25 जी आई(G.I.)

सूखा आलूबुखारा(Prunes) 29 जी आई(G.I.)

सूखी खुबानी(Apricots) 30 जी आई(G.I.)

सेब(Apple) 38 जी आई(G.I.)

बेर(Plums) 39 जी आई(G.I.)

स्ट्रॉबेरी(Strawberry) 40 जी आई(G.I.)

आड़ू(Peach) 42 जी आई(G.I.)

नाशपाती(Pear) 43 जी आई(G.I.)

संतरा(Orange) 45 जी आई(G.I.)

अंगूर हरे(Grapes Green) 46 जी आई(G.I.)

मीडियम ग्लायसेमिक इंडेक्स फल(Medium Glycemic Index Fruit)

इस वर्ग में वो फल आते हैं जिनका ग्लायसेमिक इंडेक्स 50 से 70 के बीच होता है। इस तरह के फल को खाते समय इनके साथ अपने भोजन में कुछ ऐसी चीजें खाने की जरूरत होती है जो इन फलों के द्वारा बढ़े ग्लूकोस(Glucose) को घटाने का काम कर सकें। इनके साथ भुने चने(Roasted Gram) खाये जा सकते हैं जोकि शुगर कम करने में मदद करते हैं। इस तरह के फलों की मात्रा 1 कप से कम ही रखनी चाहिए ताकि शुगर लेवल(Sugar Level) तेजी से ना बढ़े। इस तरह के फल हैं

kiwifruit-400143_640

आम(Mango) 51 जी आई(G.I.)

केला(Banana) 52 जी आई(G.I.)

पपीता(Papaya) 56 जी आई(G.I.)

कीवी(Kiwi) 58 जी आई(G.I.)

अनानास(Pineapple) 66 जी आई(G.I.)

हाइ ग्लायसेमिक इंडेक्स फल(High Glycemic Index Fruit)

इस वर्ग में वे फल आते हैं जिनका ग्लायसेमिक इंडेक्स 70 से ऊपर होता है। इस तरह के फल बहुत तेजी से शुगर लेवल बढ़ा सकते हैं इसलिए इस तरह के फलों से बचना ही सही है, लेकिन फिर भी स्वाद के लिए आप इन्हे खाना ही चाहते हैं तो यह जरूरी है कि इनको बहुत कम मात्रा में लिया जाये और इसके साथ अपने शुगर को कंट्रोल करने के लिए शारीरिक व्यायाम(Physical Exercise) और डाइट कंट्रोल(diet Control) भी करें। इस तरह के कुछ फल ये हैं

watermelon-815072_640

तरबूज(Watermelon) 72 जी आई(G.I.)

खजूर(Dates) 102 जी आई(G.I.)

        अब आप जान ही गए होंगे कि लगभग सभी फल आप खा सकते हैं बस आपको डायबिटीज(Diabetes) के दौरान यह ध्यान रखना है कि उन फलों का ग्लायसेमिक इंडेक्स(Glycemic Index) क्या है। फिर इंतजार किस बात का, कुछ फल खाइये और सेहत बनाइये।

22 thoughts on “डायबिटीज में खायें ये फल Fruits for Diabetics”

  1. Useful information! Usually surprising to see informative blog posts that put things into a different light instead of just repeating
    what we already know. I was diagnosed with diabetes on put on Insulin on January 13th, 2014,
    but I’m not letting it hold me back – things like natural reduction methods and atkins have helped.
    Anyway, I hope this post gets more traction and I’m sharing it to
    my Facebook. Thanks a lot!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

http://bsdblog.in/wp-content/plugins/wp-monalisa/icons/wpml_bye.gif  http://bsdblog.in/wp-content/plugins/wp-monalisa/icons/wpml_good.gif  http://bsdblog.in/wp-content/plugins/wp-monalisa/icons/wpml_negative.gif  http://bsdblog.in/wp-content/plugins/wp-monalisa/icons/wpml_scratch.gif  http://bsdblog.in/wp-content/plugins/wp-monalisa/icons/wpml_wacko.gif  http://bsdblog.in/wp-content/plugins/wp-monalisa/icons/wpml_yahoo.gif  http://bsdblog.in/wp-content/plugins/wp-monalisa/icons/wpml_cool.gif  http://bsdblog.in/wp-content/plugins/wp-monalisa/icons/wpml_rose.gif  http://bsdblog.in/wp-content/plugins/wp-monalisa/icons/wpml_smile.gif  http://bsdblog.in/wp-content/plugins/wp-monalisa/icons/wpml_whistle3.gif  http://bsdblog.in/wp-content/plugins/wp-monalisa/icons/wpml_mail.gif  http://bsdblog.in/wp-content/plugins/wp-monalisa/icons/wpml_cry.gif  http://bsdblog.in/wp-content/plugins/wp-monalisa/icons/wpml_sad.gif  http://bsdblog.in/wp-content/plugins/wp-monalisa/icons/wpml_unsure.gif  http://bsdblog.in/wp-content/plugins/wp-monalisa/icons/wpml_wink.gif 
http://bsdblog.in/wp-content/plugins/wp-monalisa/icons/wpml_heart.gif  http://bsdblog.in/wp-content/plugins/wp-monalisa/icons/wpml_yes.gif