जवान त्वचा का साथी : रेटिनॉल Best Friend of Skin: Retinol

साथियों आजकल की तनाव भरी और दौड़ती भागती ज़िंदगी ने हमें समय से पहले ही थकाना शुरू कर दिया है और इसके निशान सबसे पहले हमारी त्वचा पर दिखने लगते हैं जिसके नतीजे में बारीक रेखायें, झुर्रियां, रूखी और बेजान त्वचा जैसी समस्यायें हमारी परेशानियों को और बढ़ाने लगती हैं।

अब हम बढ़ती उम्र, व्यस्त दिनचर्या, तनाव को तो बिल्कुल खत्म नहीं कर सकते लेकिन अपनी त्वचा की सही तरीके से देखभाल करके उम्र के निशान कम ज़रूर कर सकते हैं। जवां त्वचा का ऐसा ही एक साथी है : रेटिनॉल (Retinol), तो आइये जानते हैं इसके बारे में

रेटिनॉल (Retinol) क्या है?

रेटिनॉल विटामिन ए(Vitamin A) का ही एक रूप है जिसे सौन्दर्य प्रसाधनों(Cosmetics) और त्वचा की झुर्रियों(Wrinkles) और महीन रेखाओं(Fine Lines) को दूर करने वाली क्रीम में इस्तेमाल किया जाता है।

रेटिनॉल (Retinol) कैसे काम करता है ?

रेटिनॉल एक ऐसा कैमिकल कम्पाउण्ड(Chemical Compound) है जो सीधा त्वचा की कोशिकाओं (Cells) पर काम करता है। जब 30 की उम्र के बाद त्वचा की कोशिकाओं की मरम्मत धीमी होने लगती है तब रेटिनॉल के इस्तेमाल से इस गति को बढ़ाया जा सकता है।

          रेटिनॉल लगातार त्वचा की ऊपरी परत पर काम करता है जिससे त्वचा की मृत(Dead) और रूखी(Dry) परत का स्थान नयी और स्वस्थ परत ले लेती है। इससे त्वचा चमकदार और ज़्यादा स्वस्थ दिखने लगती है। रेटिनॉल त्वचा पर उम्र के साथ पड़ने वाली झुरियों और महीन रेखाओं पर भी काम करके उनका बढ़ना कम करता है। यह कोलॅजन (Collagen) के बनने की दर को बढ़ाता है जिससे त्वचा चमकदार और कसी हुई नज़र आती है।

त्वचा की देखभाल के लिए रेटिनॉल का उपयोग कैसे किया जा सकता है?

रात को सोते समय 

रेटिनॉल युक्त कॉस्मेटिक्स का उपयोग रात के समय करना उचित रहता है क्यूंकि नींद में हमारा शरीर मरम्मत(Repair) का काम करता है और ऐसे में त्वचा पर रेटिनॉल युक्त क्रीम का इस्तेमाल ज़्यादा असरदार रहता है।

सीरम(Serum) के रूप में उपयोग

रेटिनॉल युक्त सीरम का इस्तेमाल उन लोगो के लिए फायदेमंद रहता है जिनकी त्वचा ज़्यादा संवेदनशील होती है। सीरम त्वचा में ज़्यादा गहराई तक समाकर कोशिकाओं पर काम करता है और उसे स्वस्थ और चमकदार बनाता है।

एंटी रिंकल क्रीम(Anti-wrinkle Cream) के रूप में 

आज के समय में बाज़ार में कई तरह की एंटी रिंकल क्रीम उपलब्ध हैं जिनमे मुख्य तौर पर रेटिनॉल का इस्तेमाल किया गया होता है। आप अपनी त्वचा की ज़रूरत और बजट के हिसाब से कोई भी क्रीम चुन सकते हैं।

रेटिनॉल मिश्रण

जिन्हे रेटिनॉल की ज़्यादा मात्रा की ज़रूरत है वह लोग किसी कैमिस्ट की दुकान से भी इसे खरीद सकते हैं। यह मिश्रण त्वचा पर सीधे लगाया जाता है।

रेटिनॉल युक्त उत्पादों की पहचान कैसे करें ?

रेटिनॉल युक्त प्रॉडक्ट(Product) की पहचान करने के लिए लिस्ट में Retinyl acitate, Retinyl palmitate, Retinyl aldehyde जैसे शब्दों पर ध्यान दें। ये सभी रेटिनॉल के ही प्रकार हैं।

रेटिनॉल का इस्तेमाल करते समय इन बातों का ध्यान रखें 

  • रेटिनॉल त्वचा पर काफी असरदार होता है लेकिन कई बार यह त्वचा को संवेदनशील, लालिमा युक्त और रूखा भी बना सकता है इसलिए रेटिनॉल युक्त क्रीम को चेहरे पर लगाने से पहले अच्छे मोइश्चराइजर (Moisturiser) का इस्तेमाल करें।
  • शुरुआत में रोजाना रेटिनॉल युक्त प्रॉडक्ट का इस्तेमाल न करें। सप्ताह में दो बार से शुरू करें और जब त्वचा आदी हो जाए तब इसकी मात्रा को बढ़ाएँ।
  • रेटिनॉल त्वचा को सूर्य की किरणों के प्रति संवेदनशील बनाता है इसलिए इसका इस्तेमाल रात के समय करें।

  • दिन में घर से बाहर जाने से पहले कम से कम SPF 30 युक्त सनस्क्रीन(Sunscreen) का इस्तेमाल ज़रूर करें।

              तो यदि आप भी रूखी, बेजान त्वचा और बढ़ती उम्र के कारण पड़ने वाली झुर्रियों की समस्या से छुटकारा पाना चाहते हैं तो रेटिनॉल युक्त प्रोडक्ट्स को अपना साथी बनाएँ।

 

15 thoughts on “जवान त्वचा का साथी : रेटिनॉल Best Friend of Skin: Retinol”

  1. Dο you mind if I quote a couple of your articles as long as I provide
    credit and sources Ьack to your website? My website is in tһe exact same area оf interest as youгs and my visitors would ϲertainly bеnefit from some of the information you proviԁe here.
    Please let me knoѡ if this okay with you. Thanks!

  2. What’s up to all, the contents present at this website are in fact remarkable for people
    knowledge, well, keep up the nice work fellows.

  3. Your article has truly peaked my interest, to the point that a lazy individual like me felt obligated to post here!
    Actually, I’ve been following a few of your posts and I want to let you know
    that the majority of your posts are very helpful and beneficial.
    I have actually shared your post to my buddies on Facebook
    and Twitter. Thank you for continuing to write
    great posts for us.

  4. Your short article has actually peaked my interest, to the point that a lazy
    individual like me felt obliged to post here! Actually, I’ve been following some of your posts and I
    wish to let you understand that the majority of your posts are very useful
    and helpful. I have actually shared your post to my pals on Facebook and Twitter.

    Thank you for continuing to compose excellent posts for us.

  5. Hello! I simply wish to offer you a big thumbs up for your ecellent info you have got here on this post.
    I will be coming back to our site for more soon.

  6. Do you have any pointers for writing articles? That’s
    where I constantly struggle as well as I simply end up staring vacant display for long period of time.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

http://bsdblog.in/wp-content/plugins/wp-monalisa/icons/wpml_bye.gif  http://bsdblog.in/wp-content/plugins/wp-monalisa/icons/wpml_good.gif  http://bsdblog.in/wp-content/plugins/wp-monalisa/icons/wpml_negative.gif  http://bsdblog.in/wp-content/plugins/wp-monalisa/icons/wpml_scratch.gif  http://bsdblog.in/wp-content/plugins/wp-monalisa/icons/wpml_wacko.gif  http://bsdblog.in/wp-content/plugins/wp-monalisa/icons/wpml_yahoo.gif  http://bsdblog.in/wp-content/plugins/wp-monalisa/icons/wpml_cool.gif  http://bsdblog.in/wp-content/plugins/wp-monalisa/icons/wpml_rose.gif  http://bsdblog.in/wp-content/plugins/wp-monalisa/icons/wpml_smile.gif  http://bsdblog.in/wp-content/plugins/wp-monalisa/icons/wpml_whistle3.gif  http://bsdblog.in/wp-content/plugins/wp-monalisa/icons/wpml_mail.gif  http://bsdblog.in/wp-content/plugins/wp-monalisa/icons/wpml_cry.gif  http://bsdblog.in/wp-content/plugins/wp-monalisa/icons/wpml_sad.gif  http://bsdblog.in/wp-content/plugins/wp-monalisa/icons/wpml_unsure.gif  http://bsdblog.in/wp-content/plugins/wp-monalisa/icons/wpml_wink.gif 
http://bsdblog.in/wp-content/plugins/wp-monalisa/icons/wpml_heart.gif  http://bsdblog.in/wp-content/plugins/wp-monalisa/icons/wpml_yes.gif